जैन धर्म- Jain Dharm

जैन धर्म Jain Dharm GK

जैन धर्म  Jain Dharm GK जैनधर्म के संस्थापक एवं प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव थे । महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें एवं अंतिम तीर्थकर थे जैनधर्म के 23वें तीर्थकर पार्श्वनाथ थे जो काशी के इक्ष्वाकु वंशीय राजा अश्वसेन के पुत्र थे । इन्होने २० वर्ष की अवस्था में संन्यास जीवन को स्वीकारा | इनके द्वारा दी … Read more