Syndrome meaning in Hindi सिंड्रोम क्या है – अनुवांशिक बीमारियां

सिंड्रोम Syndrome meaning in Hindi सिंड्रोम क्या है Syndrome kya hai अनुवांशिक बीमारियां (Genetic diseases in Hindi ) इसकी उत्त्पति ,इनके प्रकार Syndrome Types इत्यादि प्रश्नों के उत्तर जानने का प्रयास करेंगे जैसे

ऑटोसोमल गुणसूत्रीय आनुवंशिक बीमारियाँ क्या है इनके कौन कौन से प्रकार हैं ? Syndrome meaning in Hindi

Syndrome meaning in Hindi

सिंड्रोम क्या है Syndrome kya hai-सिंड्रोम चिकित्सा शब्दावली है यह संकेतों और लक्षणों का एक समूह है जो एक दूसरे के साथ सह संबंधित होते हैं और अक्सर किसी विशेष विकार बीमारी या बीमारी से जुड़े होते हैं।
यह शब्द ग्रीक Σύμφωνος से बना है, जिसका अर्थ है “सहमति (Agreed )”। या कह सकते है सह लग्न अनुवांशिक बीमारी को हम Syndrome कहते है । यह सभी जीवित प्राणियों में हो सकता है ।


अनुवांशिक बीमारी -जैसा की हम जानते है की पिता या माता के गुण एक पीढ़ी से दुसरे पीढ़ी में पहुंचना अनुवांशिकता कहलाता है । इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कोशिका में पाया जाने वाला गुणसूत्र ।


यदि गुणसूत्र निश्चित संख्या में एक पीढ़ी से दुसरे पीढ़ी में पहुँचता है तो सामान्य जीव पैदा होते है परन्तु यदि इसमें कमी या अधिकता वंशानुगत अनुवांशिक बीमारियों का कारण बनते हैं अतः ऐसी बीमारियों को हम अनुवांशिक बीमारी कहते है ।


मानव में यह गुणसूत्र 44 सामान्य गुणसूत्र व एक जोड़ा लिंग गुणसूत्र होते है जिसे पुरुष के लिए XY व मादा के लिए XX से पहचानते हैं मानव में कुल 46 गुणसूत्र होते है यदि ये 46 से कम या ज्यादा होंगे तो अनुवांशिक बीमारी से पीड़ित होते है ।

ऑटोसोमल गुणसूत्रीय आनुवंशिक बीमारियाँ-ये वे बीमारियाँ हैं, जो ऑटोसोमल गुणसूत्रों में परिवर्तन या अनियमितता के कारण होती हैं।
उदाहरण-(i) मंगोलिज्म, (ii) टर्नर सिण्ड्रोम, (ii) क्लाइनफेल्टर सिण्ड्रोम।


टर्नर सिण्ड्रोम- Turner syndrome


यह बीमारी( टर्नर सिण्ड्रोम- Turner syndrome)एक लैंगिक गुणसूत्र के कम हो जाने के कारण होती है। इस बीमारी से ग्रसित मनुष्य हमेशा मादा होती है और उसमें 44 कायिक और 1 लैंगिक X गुणसूत्र पाया जाता है ।

इस प्रकार की स्त्री की लम्बाई कम, गर्दन जालयुक्त, चौथी मेटाकार्पिल छोटी और अण्डाशय कम विकसित होता है। इसमें मासिक चक्र नहीं होता और इनका अण्डाशय कम विकसित होता है। ये स्त्रियाँ बन्ध्य होती हैं।

विश्व के 3000 जन्मों में से 1 सन्तान टर्नर सिण्ड्रोम युक्त होती है। वैज्ञानिकों द्वारा महिलाओं में कई और टर्नर सिण्ड्रोम खोजे गये हैं।


क्लाइनफेल्टर सिण्ड्रोम-Klinefelter Syndrome


यह बीमारी( क्लाइनफेल्टर सिण्ड्रोम-Klinefelter Syndrome) पुरुषों में एक या कई गुणसूत्रों के बढ़ जाने के कारण होती है। ऐसे व्यक्तियों में 47(44+XXY), 48 (44+XXXY) या 49 (44+ XXXXY) गुणसूत्र पाये जाते हैं।

कभी- कभी यह बीमारी Y गुणसूत्रों की वृद्धि के कारण भी होती है, लेकिन इस बीमारी वाला व्यक्ति हमेशा नर ही होत है। ऐसे पुरुषों के किशोरावस्था में वृषण मुलायम और छोटा होता है, जिसमें तन्तुमय ऊतक अधिक होते हैं,
लेकिन इनकी शुक्रजनन नलिकाएँ कम विकसित होती हैं और इनकी जनन स्तर में केवल सरटोली कोशिकाएँ ही पायी जाती हैं । इस कारण ऐसे व्यक्तियों में शुक्राणु नहीं बनते अर्थात् ये बन्ध्य होते हैं और इनके द्वितीयक लक्षण में कुछ मादा के लक्षण भी विकसित हो जाते हैं।

इनका मस्तिष्क भी कम विकसित होता है और हाथ लम्बे होते हैं । प्रायः देखा गया है कि ‘X’ गुणसूत्रों की संख्या जितनी अधिक होती जाती है, मस्तिष्क उतना ही कम विकसित होता जाता है।
जब पुरुषों में Y गुणसूत्रों की संख्या बढ़ती है तब भी उनमें कुछ अनियमितताएँ बनती हैं। Y गुणसूत्र की एक असामान्य स्थिति “44 + XYY” है, इससे युक्त व्यक्ति लम्बा और मानसिक रूप से कम विकसित होता है।
प्राय: देखा गया है कि 44 + XYY गुणसूत्रों वाले व्यक्ति अपराधिक प्रकृति के होते हैं।

उम्मीद है यह पोस्ट Syndrome meaning in Hindi सिंड्रोम क्या है – अनुवांशिक बीमारियां आपको अच्छी लगी होगी

PPT Full form पीपीटी का फुल फॉर्म क्या है ?

Biology in Hindi-जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक-Gk