Biology in Hindi-जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक-Gk

आज हम Biology in Hindi जीव विज्ञान मुख्य शाखाएँ ,जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक,जीव विज्ञान सम्बन्धी महत्त्वपूर्ण सिद्धान्त के जनक के बारे में जानेगे ।

जैसे -जीव विज्ञान के जनक का क्या नाम है ? जीव विज्ञान की शाखाएं कौन कौन सी है ? बायोलॉजी के फादर कौन है ? सूक्ष्म जीव विज्ञान के पिता कौन हैं?


जीव विज्ञान – Biology in Hindi


जीव विज्ञान : एक परिचय (Biology: An Introduction) -विज्ञान की  वह शाखा है, जिसके अन्तर्गत सजीवों का अध्ययन किया जाता है। जीव विज्ञान शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग लैमार्क Lamarck और ट्रेविरेनस (Treviranus) ने सन् 1802 में किया था। अरस्तू (एक ग्रीक दार्शनिक) को जीव विज्ञान (Biology) का जनक (Father of Biology) माना जाता है।

जीव विज्ञान की मुख्य शाखाएँ Main Branches of Biology in Hindi


(a) वनस्पति विज्ञान (Botany)-इसके अन्तर्गत पेड-पौधों का अध्ययन किया जाता है। थियोफ्रेस्टस Theophrastuas वनस्पति विज्ञान के जनक है
(b) जन्तु विज्ञान (Zoology)-इसके अन्तर्गत जन्तुओं का अध्ययन किया जाता है। अरस्तु (Aristotle) जन्तु विज्ञान के जनक है।
(c) सूक्ष्मजैविकी (Microbiology)-इसके अन्तर्गत सूक्ष्मजीवों, जैसे-विषाणु (virus), जीवाणु (bacteria) आदि का अध्ययन
किया जाता है। लुई पाश्वर सूक्ष्मजैविकी के जनक है।

जीव विज्ञान की अन्य शाखाएँ (Other Branches of Biology)

शारीरिकी (Anatomy)-जीवों की आन्तरिक रचना का अध्ययन किया जाता है।
औतिकी (Histology)-जीवों के ऊतकों का अध्ययन।
कोशिका विज्ञान (Cytology) कोशिका की संरचना का अध्ययन सूक्ष्मदर्शी की सहायता से।
कोशिका जीव विज्ञान (Cell Biology)-कोशिका की संरचना, कार्य, जनन एवं जैव इतिहास का अध्ययन


आनुवांशिकी (Genetics)-आनुवंशिकता एवं विभिन्नताओं का अध्ययन
भ्रोणिकी(Embryology)-युग्मक निर्माण से भ्रूण के परिवर्धन तक का अध्ययन।
रोग विज्ञान (Pathology) रोगाणु, रोग सम्बन्धी लक्षण, एवं रोग नियन्त्रण का अध्ययन।
पारिस्थितिकी (Ecology)-जीवधारियों एवं उनके वातावरण के मध्य पारस्परिक सम्बन्धों का अध्ययन


आर्थिक वनस्पति विज्ञान (Economic Botany)-पौधों से प्राप्त उपयोगी पदार्थों का अध्ययन
विषाणु विज्ञान (virology)-विषाणुओं का अध्ययन।
शैवाल विज्ञान (Pycoloay-शैवालों का अध्ययन।
कवक विज्ञान (Mycology)-कवको का अध्ययन।


जैव-सांख्यकी (Biometrics)-जैव क्रियाओं और उनके परिणामों का गणित तथा सांख्यिकी द्वारा विश्लेषण
जैव-रसायन (Biochemistry)-जीवधारियों के रासायनिक घटक एवं रासायनिक प्रक्रियाओं का अध्ययन
जैव-भौतिकी (Biophysics)-भौतिक सिद्धान्तों एवं विधियों के आधार पर जैविक समस्याओं का अध्ययन।
आण्विक जीव विज्ञान (Molecular Biology)-जैव अणुओं का अध्ययन


आनुवंशिकी अभियान्त्रिकी (Genetic Engineering) आनुवंशिक पदार्थों के उपयोग और संयोजन के द्वारा नए आनुवंशिक लक्षणों
से जीवधारियों का निर्माण
जीवाश्मिकी (Palaeontology)-जीवों के जीवाश्मों का अध्ययन-
भेषजगुण विज्ञान (Pharmacology)- दवाइयों के निर्माण से सम्बन्धित अध्ययन।
शस्य विज्ञान (Agronomy)-फसलों का अध्ययन।


एन्थोलॉजी (Anthology)-पुष्पों का अध्ययन।
वृक्ष संवर्धन (Arboriculture)-सजावटी वृक्षों एवं पादपों के संवर्धन का अध्ययन।
डेन्ड्रोलॉजी (Dendrology)-वृक्षों का अध्ययन।
डेन्ड्रोक्रोनोलॉजी (Dendrochronology)-वृक्षों की आयु से सम्बन्धित अध्ययन।
पैलीनोलॉजी (Palynology)-परागकणों का अध्ययन।


वन वर्धन (Silviculture)-वनों के विकास, देख-रेख तथा संवर्धन का अध्ययन।
फल संवर्धन (Pomology)-फलों के संवर्धन का अध्ययन।
सब्जियों की कृषि (Olericulture)-उद्यानों में फल, सब्जियों, सजावटी पुष्पों तथा पौधों के संवर्धन का अध्ययन।
बायोटेक्नोलॉजी (Biotechnology)-जीवों अथवा जीव घटकों का औद्योगिक स्तर पर उपयोग करना।


लिम्नोलॉजी (Lymnology)-झीलों एवं अलवणीय (मीठे जल ) जलीय पौधों (पादपों) का अध्ययन।
जिरोन्टोलॉजी (Gerontology)-आयु के साथ जीवों में होने वाले परिवर्तनों का अध्ययन।
जाइलोटॉमी (Xylotomy)-काष्ठ का अध्ययन
स्पर्मोलॉजी (Spermology)-बीजों का अध्ययन।


एक्सोबायोलॉजी (Exobiology) अन्य ग्रहों पर सम्भावित जीवों की उपस्थिति का अध्ययन।
इथनोबॉटेनी (Ethnobotany)-आदिवासियों द्वारा पादपों के उपयोग का अध्ययन।
एक्रोबायोलॉजी (Acrobiology)-उड़ने वाले जन्तुओं का अध्ययन।
एन्थ्रोपोलॉजी (Anthropology)-मानव का अध्ययन।


एन्जियोलॉजी (Angiology)-रुधिर परिसंचरण तन्त्र का अध्ययन।
एपीकल्चर (Apiculture)-मधुमक्खी पालन का अध्ययन।
कॉण्ड्रोलॉजी (Chondrology)-उपास्थियों का अध्ययन।
डर्मेटोलॉजी (Dermatology) त्वचा का अध्ययन।


एन्डोक्राइनोलॉजी (Endocrinology)-अन्तःस्रावी तन्त्र का अध्ययन।
एपिडीमियोलॉजी (Epidemiology)-रोगों की उत्पत्ति एवं वितरण का अध्ययन।
इटियोलॉजी (Etiology) रोगों के उत्पन्न होने के कारणों का अध्ययन।
सुजननिकी (Eugenics)-आनुवंशिकी द्वारा मनुष्य जाति में सुधार का अध्ययन।


यूफेनिक्स (Euphenics)-आनुवंशिक अभियान्त्रिकी (चिकित्सा प्रौद्योगिकी) द्वारा मनुष्य जाति में सुधार का अध्ययन।
एन्जाइमोलॉजी (Enzymology)-एन्जाइमों का अध्ययन।
हरपेटोलॉजी (Herpetology)-सरीसृपों का अध्ययन।
इक्वथीयोलॉजी (Ichthyology) मत्स्य (Fish) का अध्ययन।


जिनेकोलॉजी (Genecology)-किसी जाति का उसकी जनसंख्या में आनुवंशिक बनावट का अध्ययन।
इम्यूनोलॉजी (Immunology)-रोगों के प्रति शारीरिक प्रतिरक्षा से सम्बन्धित अध्ययन
लेपिडोप्टेरोलॉजी (Lapidopterology)-मोथ एवं तितली का अध्ययन।
मैमेलॉजी (Mammalogy) स्तनधारियों का अध्ययन।


मायोलॉजी (Myology)-पेशियों का अध्ययन।
न्यूरोलॉजी (Neurology) तन्त्रिका तन्त्र का अध्ययन
ऑन्कोलॉजी (Oncology कैन्सर एवं गाँठ का अध्ययन
साइनेकोलॉजी (Synecology)-पक्षियों का अध्ययन
सेरीकल्चर (Sariculture) रेशम उत्पाद का अध्ययन

जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक- ( Father of Various Branches of Biology )

क्र०सं० शाखा जनक

1 वनस्पति विज्ञान थियोफ्रेस्टस (Theophrastus)
2 जंतु विज्ञान अरस्तू (Aristotle)
3 जीवाणु विज्ञान रॉबर्ट कोच (Robert Koch)

4.सूक्ष्मजैविकी लुई पाश्चर (Louis Pasteur)
5 आनुवंशिकी मेण्डल (Mendel)

6.प्रायोगिक आनुवंशिकी टी० एच० मॉर्गन (T.H. Morgan)

7.आधुनिक आनुवंशिकी डब्ल्यू० बेटसन (W.Bateson)
8 जैव रासायनिक आनुवंशिकी गैरॉड (Garrod)

9.प्रतिरक्षा विज्ञान एडवर्ड जेनर (Edward Jenner)

10.आधुनिक भ्रूण विज्ञान वॉन बेयर (Von Baer)

11.औषधि विज्ञान हिप्पोक्रेट्स (Hippocrates)
12 कोशिका विज्ञान रॉबर्ट हुक (Robert Hooke)

13.आनुवंशिक अभियान्त्रिकी पॉल बर्ग (Paul Berg)

14.पादप रोग विज्ञान डी बेरी (De Bary)
15 . आधुनिक रोग विज्ञान आर० विरकोव (R. Virchow)

16.वर्गिकी कैरोलस लिनियस (Carolus Linnaeus)

17.भारतीय वर्गिकी एच० सान्तापो (H. Santapau)

18.भारतीय जीवाश्मिकी बीरबल साहनी (Birbal Sahni)

जीव विज्ञान सम्बन्धी महत्त्वपूर्ण सिद्धान्त (Important Theories Related to Biology)

क्र०सं सिद्धान्त वैज्ञानिक

  1. विशिष्ट उत्पत्तिवाद का सिद्धान्त -फादर सॉरेज
  2. कॉस्मिक सिद्धान्त-रिक्टर
  3. कॉस्मोजोइक पैनस्पर्मिया सिद्धान्त-आरेनियस
  4. रासायनिक विकास सिद्धान्त-ए० आई० ओपेरिन
  5. उपार्जित लक्षणों की वंशागति सिद्धान्त– लैमार्क
  6. प्राकृतिक चयन सिद्धान्त-डार्विन
  7. पुनरावृत्ति सिद्धान्त-हेकल
  8. कोशिका सिद्धान्त-श्लाइडेन एवं श्वान
  9. उत्परिवर्तन सिद्धान्त-ह्यगो डी वीज
  10. जर्मप्लाज्म सिद्धान्त-वीजमान
  11. सॉल-जेल सिद्धान्त– हाइमान, पेन्टिन एवं मास्ट
  12. एक जीन-एक एन्जाइम सिद्धान्त– बीडल एवं टेटम
  13. आनुवंशिकता का गुणसूत्रीय सिद्धान्त -सटन एवं बोवेरी
  14. आनुवंशिकता का जीनिक सिद्धान्त -बेटसन एवं पुन्नेट
  15. बायोजेनेटिक सिद्धान्त-हेकल
  16. आनुवंशिकी के नियम -ग्रेगर जॉन मेण्डल
  17. पैन्जीनवाद सिद्धान्त -डार्विन
  18. नव लैमार्कवाद – स्पेन्सर एवं मैक्डूगल
  19. नव डार्विनवाद -डॉब्जोंस्की
  20. स्वतः जननवाद सिद्धान्त -वॉन हैल्मॉन्ट

उम्मीद है आपको Biology in Hindi-जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक-जीव विज्ञानGk आपको जरूर पसंद आयी होगी 

और पढ़े 

Physics in Hindi Gk भौतिक विज्ञान संबंधी पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

Giv Vigyan Gk जीव विज्ञान -विज्ञान सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

Science Quiz In Hindi :Most Important Question

1 thought on “Biology in Hindi-जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक-Gk”

Comments are closed.