acid base and salt

Acid base and salt(अम्ल, भस्म एवं लवण)

आइए आज हम अम्ल, भस्म एवं लवण ( Acid base and salt) के बारे कुछ सामान्य जानकारी आपके लिए लेकर आये है उम्मीद है आपको जरूर पसंद आएंगी।

Acid base and salt

अम्ल, भस्म एवं लवण ( Acid base and salt)


अम्ल (Acid)- अम्ल वे यौगिक पदार्थ हैं, जिनमें हाइड्रोजन (hydrogen)प्रतिस्थाप्य के रूप में रहता हैं। अम्ल का जलीय विलयन नीले लिटमस (blue litmus)को लाल कर देता हैं।

(Trickअनील)

आहेनियस के अनुसार- अम्ल एक ऐसा यौगिक है जो जल में घुलकर H+ आयन होती हैं।

लुइस इलेक्ट्रॉन सिद्धांत के अनुसार- जिसमें इलेक्ट्रॉन की एक निर्जन जोड़ी स्वीकार करने की प्रवृत्ति होती हैं।


अम्लों के उपयोग ( Uses of acids )

कपड़े से जंग के धब्बे हटाने के लिए ऑक्जैलिक अम्ल (Oxalic Acid) प्रयुक्त किया जाता हैं। खाने के काम में जैसे- खट्टे दूध (लैक्टिक अम्ल Lactic acid) सिरका एवं अचार(एसिटिक अम्ल) सोडावाटर एवं अन्य पेय(कार्बोनिक अम्ल/Organic acid ) पदार्थ, अंगूर(टार्टरिक अम्ल Tartaric acid) सेव(साइट्रिक अम्ल) आदि।

Acid base and salt in hindi

भस्म या क्षार (Base )

वह यौगिक जिसमें प्रोटॉन ग्रहण करने की क्षमता होती हैं।

भस्म दो प्रकार के होते हैं ( Types Of Base)

जल में अविलेय भस्म या क्षार Soluble Base in water

यह अम्ल के साथ किया करके लवण (Salt) एवं जल (water) का निर्माण करते हैं।

कास्टिक सोडा या सोडियम हाइड्रोक्साइड का उपयोग कारखानों तथा पेट्रोलियम साफ करने में।

कपड़ा एवं कागज बनाने में कैल्शियम हाइड्रोक्साइड का उपयोग जल मृदु एवं ब्लीचिंग पाउडर बनाने में।
गारा एवं प्लास्टर बनाने में Plaster of Perish
चमड़ा के ऊपर का बाल साफ करने में।

अम्ल के जलन पर मरहम पट्टी करने में तथा घरों में चूना पोतने में।

जल में विलेय भस्म

यह लाल लिटमस ( Red Litmus Paper) पत्र को नीला कर देता हैं। उदाहरण-पोटैशियम हाइड्रोक्साइड तथा सोडियम हाइड्रोक्साइड आदि।

अम्लराज (Aqua regia)

यह सोना एवं प्लैटिनम को गलाने में समर्थ होता हैं।

अम्लराज 3 : 1 के अनुपात में सान्द्र हाइंड्रोक्लारिक अम्ल नाइट्रिक अम्ल का ताजा मिश्रण होता हैं।

कुछ प्रमुख लवणों का उपयोग

पोटैशियम नाइट्रेट (potassium Nitrate)- बारूद बनाने में इसका उपयोग किया जाता हैं।

कॉस्टिक सोडा- इसका उपयोग अपमार्जक का चूर्ण बनाने में किया जाता हैं।

धावन सोडा या सोडियम कार्बोनेट- कपड़ा धोने में इसका उपयोग होता है।

साधारण नमक या सोडियम क्लोराइड- खाने के रूप में आचार के परिरक्षण में इसका उपयोग होता हैं।

pH स्केल

किसी विलयन की अम्लीयता व क्षारीयता को व्यक्त करने के लिए pH मापदंड का प्रयोग किया जाता हैं। किसी विलयन का pH मान 7 से कम होने पर वह विलयन अम्लीय होता हैं। 7 से अधिक होने पर वह विलयन क्षारीय होता हैं।

Full Form- फुल फॉर्म हिंदी

Hindi मेंNational Song in Hindi राष्ट्रीय गीत व गान हिंदी में

Quiz Gk in HindiHormone kya hai हार्मोन क्या है

छत्तीसगढ़ अनुसूचित जनजाति व स्थान

कुछ पदार्थो का pH
रक्त लार दूध मूत्र शराब नींबू सिरका
7.46.56.462.82.22.4




आपको यह लेख कैसा लगा आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर साझा कीजियेगा ,धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please share